इंटरनेट क्या है और कैसे काम करता है ? how to internet

internet – क्या है ! internet कैसे काम करता है ?

DIGITAL SEVA

internet क्या है ! internet कैसे काम करता है ? internet speed how to internet इंटरनेट से क्या लाभ और हानि है ? internet को हिंदी में क्या कहते हैं ? इसके मालिक कौन है तथा इसकी खोज किसने की ? भारत में internet कब आया internet का क्या महत्व है ? internet का इतिहास क्या है ? इन सभी जानकारी के बारे में आज के इस आर्टिकल में आप सब पूरा विस्तार से जानेंगे तो चलिए हम आपको आगे इस आर्टिकल के माध्यम से पूरी जानकारी स्टेप बाय स्टेप देते हैं !

Setup 1

दोस्तों internet हम इंसानों की मूलभूत जरूरतों का अहम हिस्सा बन चुका है ! अब ऐसा लगता है कि internet के बिना जिंदगी की कल्पना भी नहीं की जा सकती है ! यू कहीं तो internet आज हमारी जीवन का एक अभिन्न हिस्सा बन चुका है क्योंकि आज का इंसान खास करके आज के नौजवान पीढ़ी बिना खाए बिना पिए और बिना सोए तो रह सकता है लेकिन बिना इंटरनेट का नहीं रह सकता !

इसका कारण यह भी है कि घर से लेकर बाहर तक हर जगह या किसी न किसी रूप में मिल ही जाता है जैसे मनोरंजन के लिए बैंकिंग के लिए ऑनलाइन रेलवे टिकट के लिए, घर बैठे ऑनलाइन शॉपिंग के लिए मोबाइल बिजली फोन का बिल जमा करने के लिए ऑनलाइन पढ़ाई करने के लिए विज्ञापन के लिए बिजनेस के प्रचार प्रसार के लिए किसी भी डॉक्यूमेंट को मेल के माध्यम से ट्रांसफर करने के लिए, इसके साथ साथ आप आर्टिकल को इंटरनेट से कनेक्टेड मोबाइल फोन या फिर कंप्यूटर पर ही पढ़ रहे होंगे या इंटरनेट का इस्तेमाल करके ही इस आर्टिकल को आज तक मैंने पहुंचा पाया है !

आजकल के नौजवान जिसको देखो मोबाइल में लगा रहता है क्योंकि इंटरनेट व्यापार से लेकर एजुकेशन टेक्नोलॉजी कम्युनिकेशन और मनोरंजन का एक प्रमुख केंद्र बना हुआ है इंटरनेट जहां आप हमारी बहुत ही समस्याओं का हल किया है वही हमारे लिए बहुत सी नई समस्याओं को जन्म भी दिया है दोस्तों अब आपके मन में बहुत सारे सवाल और होंगे कि इंटरनेट के बारे में जानकारी इकट्ठा करने के लिए !

internet – क्या है ! internet कैसे काम करता है ?

इंटरनेट क्या है और कैसे काम करता है ! how to internet ,इंटरनेट क्या है इंटरनेट से क्या लाभ और हानि है इंटरनेट को हिंदी में क्या कहते हैं इसके मालिक कौन है तथा इसकी खोज किसने की भारत में इंटरनेट कब आया इंटरनेट का क्या महत्व है इंटरनेट का क्या इतिहास है इन सभी जानकारी के साथ नीचे सभी सवालों का जवाब आपको इस आर्टिकल में मिलने वाला है तो आप धैर्य पूर्वक इस आर्टिकल को Read करें !

इंटरनेट क्या है और कैसे काम करता है ? how to internet , इस तरफ से और न जाने आपकी मन में इंटरनेट से जुड़ी कितनी तरह के सवाल आ रहे होंगे तो आपको सोचने की जरूरत नहीं है आप सही जगह पर आ चुकी हैं क्योंकि आज हम आपको इंटरनेट से जुड़ी सभी जानकारी अपनी इस आर्टिकल में पूरी डिटेल में बताने वाले हैं इंटरनेट से जुड़ी कुछ जानकारी रह जाए या समझ नहीं आए या फिर आप कुछ बताना चाहते हैं मुझे कमेंट के माध्यम से अवगत करवा सकती हैं , पिक्चर के हम जान लेते हैं सबसे पहले इंटरनेट क्या है ?

इंटरनेट क्या है?

इंटरनेट एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा दुनिया के अलग-अलग जगहों पर स्थित कंप्यूटर या डिवाइस को एक दूसरे से कनेक्ट करके डाटा को एक्सचेंज किया जाता है !

इंटरनेट का फुल फॉर्म Interconnected Network होता है ! मतलब कि ऐसा नेटवर्क जो कि एक कंप्यूटर को दूसरे कंप्यूटर से जोड़ने का काम करता है उसे इंटरनेट कहा जाता है !

आसान शब्दों में कहा जाए तो इंटरनेट को एक ग्लोबल नेटवर्क होता है जिसके द्वारा बहुत सारे कंप्यूटर अलग-अलग जगहों पर एक दूसरे से डाटा एक्सचेंज करने के लिए कनेक्ट होते हैं !

यह सही कंप्यूटर डाटा को ईमेल स्टार्टिंग सोशल नेटवर्किंग वीडियो कॉन्फ्रेसिंग इन कॉमर्स के जरिए डाटा को एक्सचेंज करते हैं !

इंटरनेट का इतिहास

यहाँ भी पढ़े: – new voter id card apply online 2020

अगर हम बात करते हैं इंटरनेट की इतिहास की तो हमें जानना होगा कि इंटरनेट कब शुरू हुआ और कैसे या प्रसिद्ध होता चला गया !

सबसे पहले सन 1969 ईस्वी में अमेरिकी रक्षा विभाग एक नेटवर्क लॉन्च किया है जिसका प्रयोग गुप्त सूचना भेजने के लिए प्रयोग में लाया गया !

1969 ईस्वी में पहली बार एक से ज्यादा कंप्यूटर को जोड़ने एवं नेटवर्क तैयार किया गया और इस नेटवर्क के बीच मैसेज को सेंड किया गया !

जैसी जैसी उसके फायदे का पता चलता है या वैसे वैसे इसका इस्तेमाल और बढ़ता चला गया तो आइए एक नजर डालते हैं कि नेट शुरू होने के बाद अब तक हमारे पास कैसे पहुंचा !

इंटरनेट के लिए पहली बार Advanced Research Projecte Network (ARPANET) के नाम से एक प्रोजेक्ट शुरू किया गया उसको अमेरिकन डिफेंस डिपार्टमेंट ने 1969 ईस्वी में डिवेलप किया !

ARPANET को गुप्त रूप से वार के बीच मैसेज भेजने के लिए बनाया गया !

1972 में Retanolines ने पहली बार ईमेल मैसेज सेंड किया इस तरह से उपयोग बढ़ता चला गया ! इस तरह से यह नेटवर्क बहुत ही लोकप्रिय हो गया !

1979 में पहली बार इसका ब्रिटिश पोस्ट ऑफिस में टेक्नोलॉजी के रूप में इस्तेमाल किया गया !

धीरे-धीरे 1984 में आने तक इस नेटवर्क से 1000 कंप्यूटर जुड़ चुकी थी !

अब इसका इस्तेमाल दूसरे सेक्टर में भी होने लगा और इसका नेटवर्क फाइल का चला गया फाइल ही रहा है !

1986 में इंटरनेट की NSINET नाम दिया गया और उसने पूरी दुनिया में अपनी महतो को साबित कर दिया !

इंटरनेट की खोज किसने की

इंटरनेट का खोज करना किसी एक व्यक्ति के बस की बात नहीं थी ! इंटरनेट की खोज के पीछे कई लोगों का हाथ था कई सारे साइंटिस्ट और इंजीनियर ने मिलकर इंटरनेट की खोज की !

1970 ईस्वी में कोल्ड वार के समय अमेरिका ने एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी (ARPA) की स्थापना की , इसका उद्देश्य कैसा टेक्नोलॉजी को बनाया था जिसने कि एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर से जोड़ा जा सके !

सबसे पहले लियोनार्ड कलीरॉक ने इंटरनेट बनाने की योजना बनाई ! बाद में J.C.R Licklider ने उस योजना के साथ रोहित किलर की मदद से एक नेटवर्क बनाया जिसका नाम ARPANET था !

1969 में ARPA एजेंसी ने ARPANET स्थापना की जिससे कि किसी भी कंप्यूटर को किसी भी कंप्यूटर से जोड़ा जा सके ! 1980 आते आते उसका नाम इंटरनेट हो गया !

इंटरनेट का मालिक कौन है

इंटरनेट से जुड़ी सवालों में से एक सवाल यह भी है कि इंटरनेट का मालिक कौन है ? हम ऐसे बहुत से लोग के मन में यह सवाल होता है कि जिस इंटरनेट का इस्तेमाल हम रात दिन करते हैं आखिर उसका मालिक कौन है ? जब हम इंटरनेट इस्तेमाल करने के लिए किसी कंपनी जैसे कि जिओ एयरटेल आइडिया या कोई अन्य कंपनी रिचार्ज करते हैं , तो यह सवाल भी हमारे मन में आता है कि यह सारी कंपनियां किस से पैसा देती होगी !

आइए जानते हैं कि इंटरनेट का मालिक कौन है इंटरनेट का कोई एक मालिक कोई व्यक्ति विशेष कोई एक देश या किसी देश की सरकार नहीं है इसमें कई कंपनियां है !

मान लीजिए आप अभी इस वेबसाइट इस आर्टिकल को पढ़ रहे हैं तो इस आर्टिकल को आप हजारों किलोमीटर दूर रखें व्यवस्था एड के सर्वर से प्राप्त कर रहे हैं जब व्यवसाय के सरवर आपके मोबाइल या पीसी पर यह आर्टिकल आ रहा है तो उस शर्मा और उसके मोबाइल के बीच एक कनेक्शन बना रहा है बना रहा है ! और इसी कनेक्शन के लिए आपको पैसे देने पड़ते हैं ! यह रुपया आफ नेशनल लेवल की कंपनी जैसे जिओ आइडिया एयरटेल या लोकल इंटरटेनमेंट प्रोफेसर को देते हैं लेकिन यह नेशनल कंपनी की पहुंच से प्रदेश तक ही होती है इसलिए नेशनल कंपनी भी इंटरनेट के लिए इंटरनेशनल कंपनी को पैसे देती है !

इंटरनेट का उपयोग

जैसे की हम जान चुके हैं कि इंटरनेट हमारे जीवन की एक अभिन्न अंग बन चुका है ! इंटरनेट का उपयोग एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में या एक विभाग से दूसरे डिवाइस में डाटा सेंड और रिसीव करने के लिए करते हैं !

तो आइए कुछ उपयोग को जानते हैं जो नीचे इस पर दिया गया है :-

मनोरंजन के लिए, घर बैठे शॉपिंग कर सकते हैं, बैंकिंग के लिए, ऑनलाइन पढ़ाई के लिए, आपस में वीडियो कॉलिंग बात कर सकते हैं, ऑनलाइन रेलवे या फ्लाइट टिकट बुक करने के लिए, न्यूज़ पढ़ने के लिए, मोबाइल फोन बिजली आदि का बिल जमा करने के लिए, अपने बिजनेस को प्रचार-प्रसार भी कर सकते हैं, विज्ञापन के लिए, किसी भी डॉक्यूमेंट को अमीर के माध्यम से ट्रांसफर करने के लिए, भी प्रकार की जानकारी के लिए इत्यादि,

इंटरनेट क्या है और कैसे काम करता है

  • इंटरनेट के फायदे और नुकसान

इंटरनेट से फायदे :- हमें इंटरनेट से होने वाला लाभ की वजह से ही इंटरनेट हमारी जिंदगी का एक अहम हिस्सा बन पाया है ! क्योंकि इंटरनेट से बहुत सी चीजें आसान हो गई है ! इंटरनेट से अनगिनत लाभ है इसका जिक्र नीचे किया गया है !

इंटरनेट से हम मनोरंजन घर बैठे शॉपिंग बैंकिंग ऑनलाइन पढ़ाई मोबाइल फोन बिजली शादी का बिल ऑनलाइन जमा कर सकते हैं ! दिनेश का प्रचार प्रसार कर सकते हैं इंटरनेट का इस्तेमाल करके हम रेलवे या फ्लाइट का टिकट भी बुक कर सकते हैं ! इसके अलावा किसी भी डॉक्यूमेंट को मेल के माध्यम से ट्रांसफर कर सकते हैं ! आपस में वीडियो कॉलिंग बात कर सकते हैं ! ऑनलाइन टीवी मूवी न्यूज़ गेम खेल सकते हैं ! इंटरनेट के जरिए हम आधार कार्ड पैन कार्ड राशन कार्ड और वोटर आईडी कार्ड जैसे महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं ! जो कि इंटरनेट से ही संभव हो पाया है !

इंटरनेट से नुकसान :- दोस्तों जो जिसमें हम सभी जानते हैं कि हर चीज के दो पहलू होते हैं ! ठीक इंटरनेट के साथ भी वैसा ही है ! इंटरनेट से लाभ के साथ-साथ कुछ हानि भी है ! चलिए हम आपको नीचे कुछ जानकारी देती है कि

इंटरनेट से क्या हानि :-

कुछ लोग इंटरनेट की आधी हो जाते हैं ! वह दिन हो या रात हो इस जिससे उनकी आंखों की रोशनी कम हो सकती है अमित के आदि होने के कारण बिना काम के भी मोबाइल से चिपकी रहते हैं उनके समय की बर्बादी होती है इंटरनेट के इस्तेमाल करने से वायरस का भी खतरा रहता है कुछ हटकर अपनी निजी जानकारी भी चुरा सकती है जो आपके लिए आर्थिक रूप से हानिकारक हो सकती है ! इंटरनेट इस्तेमाल करने के लिए आपको पैसे भी खर्च करने पड़ते हैं जिससे आपको पैसे का भी नुकसान होता है !

  • इंटरनेट से संबंधित सवाल और उनके जवाब

Q. इंटरनेट क्या है ?

Ans:- इंटरनेट कंप्यूटर नेटवर्क का एक विश्वव्यापी नेटवर्क है वर्तमान में इंटरनेट का उपयोग करने वाले 1 अरब से अधिक लोग हैं और हर महीने लाखों नए उपयोगकर्ता लॉगिन करती हैं इंटरनेट में कई भाग होते हैं लेकिन दोस्त सबसे लोकप्रिय वर्ल्ड वाइड और वेद और इलेक्ट्रॉनिक मेल ईमेल है !

Q. ISP क्या है ?

Ans:- एक आईएसपी आपके घर या कार्यालय से ऑनलाइन हो एकीकृत सेवा डिजिटल नेटवर्क डिजिटल स्काई बर लाइन डीएसएल या विशेष समर्पित इंटरनेट कनेक्शन के माध्यम से इंटरनेट तक सीधी पहुंच प्रदान करता है !

अधिकांश आई एस पी ए क्विक ब्राउज़र और ईमेल क्लाइंट सहित लोकप्रिय सॉफ्टवेयर प्रदान करती है आईएसपी के साथ हाला कि आप किसी अनुपलब्ध इंटरनेट सॉफ्टवेयर पैकेज का उपयोग करने के लिए स्वतंत्र हैं अधिकांश आईएसपी उपयोगकर्ताओं को अपनी खुद की जानकारी प्रकाशित करने के लिए अपना स्वयं का वेब स्पर्श भी देते हैं !

Q. वाणिज्यक ऑनलाइन सेवा क्या है ?

Ans :- वाणिज्यक ऑनलाइन सेवाओं को एक आसान से उपयोग प्रारूप में अपेक्षाकृत सीमित जानकारी प्रदान करने के लिए डिजाइन किया गया है ! वाणिज्यक सेवा में अपने स्वयं के समाचार अनुसंधान संसाधन और चर्चा मंचों की पेशकश करती है जो केवल उनके सदस्य उपयोग कर सकते हैं वे इंटरनेट की विशाल संसाधनों तक पहुंच भी प्रदान करते हैं क्योंकि यह प्रणालियां केवल इंटरनेट एक्सेस के बजाए सुमित सामग्री और बिंदु और क्लिक सॉफ्टवेयर प्रदान करती है इसीलिए वे आमतौर पर आई एस पी से अधिक खर्च करते हैं !

Q. एक Freenet क्या है?

Ans :- समुदाय के लिए पहुंच प्रदान करने के लिए अनिवार्य रूप से एक फ्री नेट स्थापित किया गया है ! यहां फ्री नेट के पीछे का सिद्धांत एक ऑर्गेनिक पुस्तकालय के समान है जो हर किसी को भुगतान करने की क्षमता की परवाह किए बिना इंटरनेट तक पहुंच प्रदान करता है !

Q. मुझे किस सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होगी

Ans :- किसी भी आधुनिक कंप्यूटर या स्मार्ट फोन में नेटवर्क क्षमता होगी ! एक बार कनेक्ट होने के बाद आपको एक वेब ब्राउज़र की आवश्यकता होगी जो कि फोरम फाइलिंग और ट्रांसलेट करने के लिए 1:00 पर मॉल प्रोग्राम और सॉफ्टवेयर है ! यह आपके कंप्यूटर स्मार्टफोन पर पहले से लोड होना चाहिए या आपके आईएसपी द्वारा प्रदान किए जाना चाहिए !

Q. एक वेब ब्राउज़र क्या है ?

Ans :- एक वेब ब्राउजर सॉफ्टवेयर है जो आपको भी भेजो को देखने की सुविधा देता है एस्केप इंटरनेट एक्सप्लोरर गूगल क्रोम मोज़िला फायरफॉक्स और वेब टीवी सभी वेब ब्राउज़र है !

Q. फायरवॉल क्या है ?

एक फायरवॉल हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर का एक संयोजन है जो एक स्थानीय क्षेत्र नेटवर्क को सुरक्षा उद्देश्यों के लिए दो या अधिक भागों में अलग करता है ! LAN के बाहर से नेटवर्क का उपयोग करने वाली उपयोगकर्ता केवल आयुर्वेद के बाहर की जानकारी तक पहुंच सकते हैं किसी भी जानकारी तक पहुंच सकते हैं !

Q. URL क्या है?

यूनिफॉर्म रिसर्च लोकेटर इंटरनेट पर साइटों की पहचान करने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला उपकरण है ! वेबसाइट उपसर्ग http: //” से शुरू होती है और ftp: //” से शुरू होती है !

अक्षरों का अगला सेट एक सरोवर को संदर्भित करता है : “www” डोमिन राम सरोवर का अनुसार करता है और इंगित करता है कि साइट किसकी है और एक extension-1 व्यवसाय की साइड (“com”) एक स्कूल की साइट (“edu:) लाभकारी साइड की पहचान करता है (“org”) इत्यादि !

Q. वर्ल्ड वाइड वेब क्या है ?

वर्ल्ड वाइड वेब उन पृष्ठों का संग्रह है जो किसी के द्वारा प्रकाशित किए जा सकते हैं और लाखों इंटरनेट उपयोगकर्ताओं द्वारा देखे जा सकते हैं ! वेब पेज में टेक्स्ट ग्राफिक साउंड वीडियो ऑडियो फाइल्स और प्रोग्राम शामिल हो सकते हैं ! इंटरनेट पर जानकारी वितरित करने का सबसे लोकप्रिय तरीका वेब है !

Q. होम पेज क्या है?

एक होमपेज एक वेबसाइट की शुरुआती पीएच है इसे एक इलेक्ट्रॉनिक पेज में संयुक्त पुस्तक की सामग्री के कवर और तालिका के रूप में सोचें !

Q. ईमेल क्या है?

ई-मेल इलेक्ट्रॉनिक मेल संदेश आमतौर पर एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को कंप्यूटर के माध्यम से भेजी जाने वाली पाठ संदेश होते हैं इन्हें प्रसारण लगभग तत्कालिक है मेलिंग सूची या सूची पत्र को नियोजित करके ईमेल को एक साथ बड़ी संख्या में पते पर भेजा जा सकता है !

Q. समाचार समूह क्या है ?

एक समाचार समूह इंटरनेट पर एक चर्चा समूह है जिससे कोई भी शामिल हो सकता है ! एक विश्वव्यापी फोरम में लेख पढ़ना और पोस्ट करना लगभग किसी भी कॉल ना उसी विषय पर चर्चा करने वाले हजारों समूह है !

Q. ब्रॉडबैंड क्या है?

Ans:- ब्रॉडबैंड शब्द एक प्रकार के इंटरनेट कनेक्शन को संदर्भित करता है जो बहुत कम समय में बड़ी मात्रा में डाटा प्राप्त करता है और डाटा को भेज सकता है !

Q. कलेक्शन गति क्या है ?

एक कनेक्शन की गति से संबंधित है कि आपका इंटरनेट कनेक्शन कितनी जल्दी इंटरनेट पर डाटा भेजा जाता है और प्राप्त किया जा सकता है !

Q. Com, .net, यादी का क्या अर्थ है ?

Ans :- परंपरागत रूप से केवल कुछ प्रकार के एक्सटेंशन थे ! .edu शैक्षिक संस्थान के लिए होता था, .com कंपनी के लिए होता था, .gov एक सरकारी संस्थान के लिए होता था, .mil एक इंटरनेट कंपनी के लिए, .net और एक गैर-लाभकारी संगठन के लिए, .org !

मानवी हालांकि इस बात पर कोई प्रतिबंध नहीं है कि कौन विस्तार कर सकता है अब कोई भी .com,.org, .net, .biz, और info खरीद सकता है !

भारत में स्थित उन लोगों के अलावा यूआरएल के बाद देश के पद नाम भी हैं ! जैसे मेरा ब्लॉक भारत के लिए बना हुआ है तो यूआरएल होगा अगर वही मैंने अमेरिका के लिए केवल साइड बनाया होता तो मेरा ब्लॉक का url .us होता है !

कुछ तो उम्मीद करता हूं कि आपको यह इंटरनेट के बारे में पूरी जानकारी मिल पाई होगी अगर आपको हमारा लेख छा लगी हो तो इससे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और उन्हें भी जानकारी प्राप्त करने में मदद करें अगर आपका कोई सवाल हो या सुझाव हो तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें !

यहाँ भी पढ़े: – इंटरनेट क्या है और कैसे काम करता है

इंटरनेट क्या है और कैसे काम करता है

Leave a Reply